Chief Minister's Message

Chief Minister's Message

 राजस्‍थान के नव‍निर्माण  की परिकल्‍पना के साथ हमारी सरकार राजस्‍थान विज़न  2020 तैयार कर इस दिशा में निरन्‍तर आगे बढ रही है ।  हमारा लक्ष्‍य विकास के सभी मापदंडों  की प्राथमिकताओं को तय करते हुए विकास दर में वृद्धि करने, मातृ-मृत्‍यु दर में कमी लाने, स्‍कूलों में नामांकित बच्‍चों को स्‍कूल छोड़ने से रोकने जैसी अनेक चुनौतियों का मुकाबला करते हुए राज्‍य का चहुमुखी विकास करना है ।

 

        राज्‍य सरकार  ने एक वर्ष के दौरान प्रदेश के समग्र विकास की दृष्टि  से आधारभूत ढांचे को सुदृढ़  बनाने के साथ उर्जा उत्‍पादन, सिंचाई, सड़क , विकास, पेयजल, जल संसाधन, नगरीय विकास, शिक्षा, चिकित्‍सा तथा सामाजिक सुरक्षा आदि क्षेत्रों में  उल्‍लेखनीय प्रगति की है़ ।  प्रदेश में निवेश को बढ़ावा  देने के लिए नई निवेश नीति तथा नई सौर उर्जा नीति लागू की गई है । 15 लाख युवाओं को राेजगार उपलब्‍ध कराने के उद्देश्य  से कौशल विकास का वृहद विकास कार्यक्रम लागू किया है ।

 

        हमारे प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र भाई मोदी के मिनिमम गर्वमेंट और मैक्सिमम गवर्नेन्‍स के दृष्टिकोण   के अनुरूप हमारी सरकार सुशासन की दिशा में कदम बढ़ा  रही है । जनता से सीधा सम्‍पर्क स्‍थापित करने के उदेश्‍य से संभाग स्‍तर पर सरकार ने  आपके द्वार  कार्यक्रम शुरू किया है । भरतपुर, बीकानेर तथा उदयपुर संभाग में गाँव - गाँव  जाकर सरकार आमजन की समस्‍याओं से रूबरू हुई और उनके समाधान के प्रयास किए । राजकीय सेवाओं की बेहतर डिलिवरी तथा महिला सशक्तिकरण की दृष्टि  से भामाशाह योजना को पुन: शुरू किया गया । श्रम कानूनों में ऐतिहासिक संशोधन किए गए, जिनकी राष्‍ट्रीय स्‍तर पर भी सराहना की जा रही हैा स्‍वच्‍छ राजस्‍थान- स्‍वच्‍छ भारत के मिशन को सभी के सहयोग से पूरा करने के लिए हम दृढ़  संकल्पित है ।

 

        विकास ही सरकार का मूल मंत्र है । प्रदेश की 36 की 36 कौमों के विकास के लिए हम वचनबद्ध है । एक वर्ष के दौरान पिछड़े  एवं कमजोर वर्गों, युवाओं, महिलाओं, अल्‍पसंख्‍यकों, अनुसूचित जाति- जनजाति, किसानों, पुशुपालकों के उत्‍थान के लिए नीतियों और कार्यक्रमों को नया मोड़  दिया गया है । आधुनिक और प्रगतिशील राजस्‍‍थान के नवनिर्माण की दिशा में हमारी सरकार प्राण-प्रण से जुटी हुई है ।

 

        आइए ! नए राजस्‍थान के निर्माण की दिशा में हम सब साथ चलें ।